Kaam Vaasna

Contact us
कुछ पुरानी PDF कहानियाँ Download Kahani App
प्यारी मिनी और उसकी सहेलियों की कामुकता और चुदाई

प्यारी मिनी और उसकी सहेलियों की कामुकता और चुदाई

ऊषा ने अपनी शादी की दूसरी सालगिरह पर हम दोनों को बुलाया. मैं निशा के साथ ऊषा के पास आ गई. ऊषा ने हम दोनों को देखा, तो बहुत खुश हो गई. हम सबने आपस में खूब बातें की.

राज और भाभी

राज और भाभी

भाभी मुझे बहुत प्यार करती थी और मेरी देखभाल भी करती थी। उनसे मुझे मम्मी और भाभी दोनो का प्यार मिलता था।

मैं और भाभी

मैं और भाभी

भाभी ने मुचे खिचा और बेद रूम तक लेगयि वहा हुमने एक दूसरे को बोहथ किस्स किया फिर वो बेद पेर लेतगयि मैं भाभी के उपेर लेत गया और कभि बूबस को थो कभि गले को थो कभि उनके पेत को किस्स करने लगा फिर वो तिमे आया जिसका मुचे इनतेज़र था अब हुम दोनो मसथि मे थे भाभी ने अपने लेगस को उथया और उनकि सलेअन शवे पिनक पुस्सी मेरे सोसक का इनतेज़ार कर रहि थि मैने उसका इनतेज़ार कतम किया और अपना सोसक पुस्सी पेर लगया थो भाभी उचलने लगि हुम दोनो बोहथ एनजोय कर रहे थे फिर मैने पुस्सी मे अहिसथा अहिसथा सोसक दलने लगा मुचे बोहथ लगरहा था मैं केह नहि सकथा कितना मज़ा अरहा था मैं बोहथ एक्ससितेद था और मैन ने ज़ोर से धका मरा थो भाभी उचल गयि और मेरा सोसक पुरि तरह उनदेर चला गया और भाभी मचलने लगि मैने सत्रोकिनग शुरू किया और बोहथ देर तक मैने भाभी कि पुस्सी मे सत्रोकिनग किया फिर उसने मुचे दूर होने के लिया कहा अब बोहथ देर होगयि है हमे घर जना है मैन ने कहा के एक शरथ पेर मैन अपना सोसक निकल लूनगा भाभी ने कहा मैं तुमहरि शरथ जनथि हून हुम फिर ऐसा करेनगे अब थो मैं भि यहि चहथि हून मुचे बोहथ कुशि होई फिर हुमने कपदे पेहने और घर चले गये। फिर हर रोज़ मोम और दद सोने के बद मैं भाभी के कमरे मे जथा हून और उनके सथ सेक्सी रथे गुज़र रहा हून मैं और भाभी अब बोहथ कुश है और हर रोज़ मुचे मेरि कुबसूरथ, सेक्सी भाभी के सथ सेक्स करने का मोका मिलथा है।

दोस्त की पत्नी की चुदाई

दोस्त की पत्नी की चुदाई

उन्हीं दिनों मेरा दोस्त जो मेरे पड़ोस में ही रहता था, उसकी शादी पक्की हो गई और 15 दिनों में उसकी शादी हो गई.
मैं उसकी शादी में नहीं जा पाया था क्योंकि मैं मुंबई मेरे चाचा के यहाँ था.
जब मैं वापस आया तो वो शाम को मिला, मैंने कहा- कैसी रही शादी.. और सुहागरात.!
पहले वो कुछ नहीं बोला फिर उसने कहा- चल, तुम्हें मेरी पत्नी से मिलाता हूँ.

मौसेरी बहन सविता की चुदाई

मौसेरी बहन सविता की चुदाई

शाम को हम सब एक साथ डिनर कर रहे थे। मेरी नज़र बार बार सविता की चूची पर जा रही थी जो कि उसके नाईट सूट से बाहर आने को बेताब थी। दोस्तों उसकी फ़िगर 34-28-34 हैं। उसके चूंची अपनी मां की ही तरह सभी को बहुत तड़पाती होंगी।

विधवा भाभी की चुदाई-2

विधवा भाभी की चुदाई-2

वो तौलिया लेकर आई तो मैंने बाथरूम का दरवाजा खोल दिया। मेरा लण्ड पहले से खड़ा था। लाली की निगाह जैसे ही मेरे लण्ड पर पड़ी तो उसने अपना सिर नीचे कर लिया। वो मुझे तौलिया देने लगी तो मैंने कहा- थोड़ा रुक जाओ। मैं अपने सिर को जरा साबुन से साफ़ कर लूं।

विधवा भाभी की चुदाई-1

विधवा भाभी की चुदाई-1

मैने कहा, मेरा सारा बदन दुख रहा है और लग रहा है की कुछ फ़ीवर भी है।
मेरी बात सुनकर वो परेशान हो गयी। उन्होने मुझसे कहा, तुम मेरे साथ डॉक्टर के पास चलो।

बाली उम्र चढ़ती जवानी की पहली चुदाई

बाली उम्र चढ़ती जवानी की पहली चुदाई

जब मैंने कनिका से संध्या के बारे में पूछा तो उसने बताया कि वो मेरे और उसकी चुदायी की सारी बातें संध्या को बता देती थी। मैं अब सब कुछ समझ गया था।

मैं और तुम कभी आशना थे

मैं और तुम कभी आशना थे

क्यों वो मुझे इस तरह से देखती है
जैसे कि तुम उससे कहती हो
“ज़रा देखकर बताना तो! क्या वो इधर देखता है?”

स्वामी जी का इलाज

स्वामी जी का इलाज

मैंने उनसे बता दिया कि मैंने उनके लिए स्वामी जी से समय लिया है। मैं मामी के यहाँ शनिवार को गया था। रविवार को स्वामी जी जन साधारण से नहीं मिलते थे। इसलिए मैंने मामी से रविवार को स्वामी जी के पास चलने के लिए बोला।

हमारा चौकीदार

हमारा चौकीदार

यह सब देख कर अब तो मेरा मन उसे किसी प्लास्टिक के लण्ड से नहीं, पर सच में किसी किसी मोटे और बड़े लण्ड से चुदाई होते देखने का मन हो आया था।

पड़ोसन चाची चूत चुदाकर माल बनी

पड़ोसन चाची चूत चुदाकर माल बनी

सारिका तो कार पर ही बैठे बैठे सो गयी थी। उसका पल्लू नीचा हो गया और डीप गला होना के कारण सारिका का आधा मोमा नज़र आने लगा। स्पीड ब्रेकर पर तो वो 75% बाहर आ जाता था। वरुण से रहा नहीं गया, उसने गाड़ी बहुत सुनसान जगह पर खड़ी कर दी। वरुण सारिका का मोमा चूसना लग गया।
सारिका चिल्लायी- ये क्या रहा है?
वरुण बोला- अपनी भूख मिटा रहा हूँ।
वो बोली- प्लीज ऐसा मत करो… मेरा पति को पता चल गया तो?
वरुण बोला- यार टेन्शन मत ले… उसे पता नहीं चलेगा।
आह बोलकर वरुण सारिका का मोटा मोटा मोमा चूसने लगा।

मेरी सहेली निशा

मेरी सहेली निशा

दोफर का वकत था 1बजे थे एसलिये पहले हमने कुछ खया और तलब मे उतरने केलिये चले ,तभि मुज़े यद आया कि मे अपना सविमिनग सुत लना हि भूल गै और मे अपने आप पे घुसा होकर बैथ गै भैयने अपनि शिरत-पनत निकलकर निकर पर तलब मे उत्रा।और मुज़े बुलने लगा।मेने सब बतया तब भैया बोले कि देख तुमने तोवेल तो लया है ना तो एक कम कर उनदर बरा और निकर पहनि है ना?

नौकरानी की बुर में लंड

नौकरानी की बुर में लंड

उसके बाद मैंने आरती से हर रोज ही चाय बनवाना शुरू कर दिया. फिर एक दिन जब मैं ऑफिस जा रहा था तो मैंने आरती को अपनी शर्ट प्रेस करने के लिए दे दी.
मैंने कहा- तुम तो प्रेस भी अच्छी कर लेती हो.

सेक्सी पड़ोसन आंटी और उनकी ननद की मस्त चुदाई

सेक्सी पड़ोसन आंटी और उनकी ननद की मस्त चुदाई

फिर एक मौका ऐसा आया, जब मैंने आंटी को झूठ बोल दिया कि मेरी 4 गर्ल फ्रेंड्स हैं जो कि मेरे साथ सेक्स करती हैं.
वो मेरी बात को सच मान गईं.
फिर मुझको पता चला कि उनकी शादी के इतने साल हो गए हैं और उनके पति उनके साथ कभी कभार ही सम्भोग किया है. पिछले काफी समय से तो उन्होंने चुदाई की ही नहीं!
मैं बोला- ये तो बड़ा गम्भीर मामला है आंटी.
उन्होंने बोला- हाँ मैं तो सारी कोशिश करती थी, उनका लंड जब घुसता था.. तो अच्छा लगता था मगर क्या करूँ वो अब चुदाई का मजा ही नहीं लेना चाहते हैं.
मैंने उनको लंड और चुदाई की बात बोलते सुना तो मैं समझ गया कि आंटी की चुत चुदाई के लिए फड़क रही है.

मेरी पड़ोसन चालू लड़की

मेरी पड़ोसन चालू लड़की

उसकी छोटी बहन पूजा कभी कभी अंकल के घर आया करती थी। मैंने उसके जरिये मीना से बात करने का इरादा बनाया। लेकिन डर रहता था कि वो मेरी मदद नहीं करे या किसी को बता दिया तो क्या होगा। मैंने हिम्मत करके एक पत्र लिख कर उसकी बहन को दे दिया कि वो पत्र मीना को दे देना।