Kaam Vaasna

कुछ पुरानी PDF कहानियाँ Download Kahani App
मेरा गुप्त जीवन -42

मेरा गुप्त जीवन -42

इसका मुख्य कारण शायद यह था कि मुझको जन्म से ही नौकरानियों ने ही पाल पोस कर बड़ा किया था और मैं अपनी माँ या और भद्र महिलाओं के पास बहुत कम ही गया था।
लेकिन इसका अपवाद था चाची और उसकी बेटी को चोदना और अभी परी और जस्सी के साथ चुदाई।

एक भाई की वासना -19

एक भाई की वासना -19

मैंने देखा की जाहिरा ने फ़ौरन ही आहिस्ता से आँखें खोलीं और सबसे पहले अपने भाई की तरफ देखा और फिर मेरी तरफ देख कर मेरा पक्का किया कि मैं सो रही हूँ या जाग रही हूँ।

एक ही घर की सब औरतों की चुदाई -4

एक ही घर की सब औरतों की चुदाई -4

जैसे ही मैंने उंगली उसकी चूत के अन्दर डाली.. उसकी सिसकारी निकल गई।
मैंने उसकी चूचियां मसलते हुए कहा- तुम्हें मजा तो आ रहा है ना..
वो बोली- हाँ.. बहुत मजा आ रहा है ऐसे ही करते रहो।

चुदने चुदाने की लालसा

चुदने चुदाने की लालसा

एक दिन मैंने उससे कह ही दिया- मैं तुमसे बात करना चाहता हूँ।
तो उसने मुझे अगले दिन 7.30 बजे शाम को कॉल करने को कहा।

मेरी कुंवारी चूत की फ़टन कथा

मेरी कुंवारी चूत की फ़टन कथा

अब मैंने एक ब्वॉय-फ्रेण्ड बनाया है.. उसका नाम पंकज है। पंकज से मैंने मोहब्बत करके रिश्ता बनाया था.. पर वो बड़ा चोदू किस्म का लड़का था, वो मुझसे सीधी बात करता ही नहीं था।

मेरा गुप्त जीवन-43

मेरा गुप्त जीवन-43

गीति ने सबसे परिचय करवाया। मैंने सबको ध्यान से देखा सभी काफी अच्छी दिख रही थी।
सबसे सुन्दर सोनाली दिख रही थी, साड़ी और ब्लाउज में कॅाफ़ी आकर्षक लग रही थ। दूसरी जो लड़की मुझको भाई, वो आशु थी।

एक भाई की वासना -20

एक भाई की वासना -20

मेरे ऊपर लेटने की वजह से फैजान ने नींद में होने का नाटक करते हुए आँखें खोलीं और बोला- हाँ क्या है?
मैंने बिना कुछ कहे उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उसके होंठों को चूमने लगी।
यह कहानी आप कामवासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !

मामा की लड़की की चूत चुदाई

मामा की लड़की की चूत चुदाई

मैं तो वहाँ पर ठीक से किसी को जानता भी नहीं था.. पापा ने सबसे मेरा परिचय करवाया।
मैं सबसे मिला.. पर घर में मातम था तो सबसे कम बात हुई।

पटियाले दा पटोला भाभी चुद गई

पटियाले दा पटोला भाभी चुद गई

मैं सोच रहा था कि काश आज कोई लड़की चोदने को मिल जाए.. तो पूरे मज़े हो जाएंगे.. और यही सोचते हुए मैं नहाने चला गया।

मेरा गुप्त जीवन-44

मेरा गुप्त जीवन-44

सोनू छवि से पूर्णतया भिन्न थी, वो स्लिम थी लेकिन उसके उरोज छोटे और गोल थे और चूतड़ भी गोल पर छोटे थे, चूत पर भी पर्याप्त बाल थे।

एक भाई की वासना -21

एक भाई की वासना -21

दोपहर को दोनों एक साथ ही वापिस आ गए। खाने की टेबल पर ही मैंने फैजान को कह दिया कि आज हम दोनों को शाम को शॉपिंग के लिए लेकर चलो.. मुझे कुछ रेडीमेड कपड़े ख़रीदने हैं।

एक ही घर की सब औरतों की चुदाई -5

एक ही घर की सब औरतों की चुदाई -5

मैंने उसे अब अपने सिस्टम के सारे फोल्डरों के बारे में बताना शुरू किया किसमें क्या सेव है और एक खास फोल्डर दिखा कर उससे कहा- मीनू इसे कभी मत खोलना.. इसमें तुम्हारे देखने की चीज नहीं है।
उसने कहा- तो किसके देखने की चीज है भैया.. क्या है इसमें?
मैंने कहा- इसमें जवानों के देखने की चीज है.. तू देखना भी मत।
उसने कहा- क्या मैं जवान नहीं हुई हूँ। मैं भी देख सकती हूँ। अब मैं बड़ी हो गई हूँ।

कविता संग पहला प्यार भरा संसर्ग

कविता संग पहला प्यार भरा संसर्ग

हमारे घर के पास ही एक सुंदर लड़की रहती थी.. जिसका नाम कविता था। वो चलती थी.. तो ऐसे लगता था.. मानो कोई हिरणी चल रही हो।
उसका रंग गोरा.. बदन एकदम कसा हुआ.. और ताज़ी जवान उम्र 18 साल की थी।

फ़ेसबुक से मिली सरिता की वासना

फ़ेसबुक से मिली सरिता की वासना

एक दिन मेरे मन में आया कि नए लोगों को अपनी लिस्ट में एड करूँ.. तो मैंने फ्रेण्ड रिक्वेस्ट भेजना स्टार्ट किया।

मेरा गुप्त जीवन -45

मेरा गुप्त जीवन -45

अगले दिन मैंने अपना नाम लिखवा दिया और पैसे भी दे दिए, कम्मो ने मेरे जाने की तैयारी भी शुरू कर दी।
उस रात मैंने कम्मो और पारो को खूब चोदा। पारो बेचारी कुछ कम चुदी थी तो उसकी चुदाई पर ख़ास ध्यान दिया।

एक भाई की वासना -22

एक भाई की वासना -22

जाहिरा ने चौंक कर मेरी तरफ और फिर मेरी सामने की ड्रेस को देखा और बोली- भाभी मैं.. मैंने इस ड्रेस का क्या करना है।
मैं- अरे यार.. ले लो.. कभी-कभी पहन लिया करना.. क्यों फैजान ठीक कह रही हूँ ना?