Kaam Vaasna

कुछ पुरानी PDF कहानियाँ Download Kahani App
सुहागरात- एक लंड की चाहत-2

सुहागरात- एक लंड की चाहत-2

भाभी ने अजय को आँख मारी- दुल्हन बहुत नाज़ुक है… सारी रात है तुम दोनों के पास… बस थोड़ा धीरे धीरे…

सुहागरात- एक लंड की चाहत-3

सुहागरात- एक लंड की चाहत-3

निशी- जीजू, इसकी मंज़िली मक़सूद बिल्कुल गोरी चिट्टी थी, तो मैंने ही वो काली कर दी…

बुआ संग खेली होली-1

बुआ संग खेली होली-1

अमित कुमार द्वारा लिखी कहानी कुछ इस प्रकार है:

बुआ संग खेली होली-2

बुआ संग खेली होली-2

कुछ देर मैंने बुआ की चूचियों और चूचुक को दबाया, मसला और फिर थोड़ा अलग होकर उनकी ब्रा के हुक को बंद कर दिया ! उसके बाद बुआ ने कमीज़ पहनी और बाल संवार कर रसोई में खाना बनाने चली गई !

पूजा को उसके घर में चोद दिया

पूजा को उसके घर में चोद दिया

मैं उसको देखता ही रह गया. वो एक परी जैसी लग रही थी. उसके नाग जैसे काले बाल और गुलाब जैसे उसके होंठ थे. गुलाबी रंग, बड़ी-2 आंखें, खूब फूला हुआ वक्ष, भरे-2 चूतड़ और उनसे नीचे उतरती सुडौल जांघें! सबसे अच्छे तो उसके चूचे थे जो देखे तो उन्हें दबाने के लिए दौड़े. उसके कूल्हे देख कर तो अच्छे अच्छे भी हिल जायें. उसकी फ़िगर 34-28-36 लग रही थी. जब वो दौड़ रही थी तो उसके बूब्स ऊपर नीचे झूल रहे थे.

पायल की चुदाई-3

पायल की चुदाई-3

अब मैं घूमा और उसकी चूत की ओर बढ़कर उसे चाटने लगा। चूत का ऊपरी भाग चाटने के बाद मैं उसके छेद को जितना हो सका उतना भीतर तक जाकर चाटा और अब अपनी जीभ छेद से और नीचे लाकर उसकी गांड की ओर बढ़ाई। गांड के दोनों ओर के डिंपल को चाटने के बाद मेरे मन में अब उसकी गांड मारने की इच्छा बलवती होने लगी। तो गांड के छेद पर भी जीभ मारकर उसे गीला बनाया।

पायल की चुदाई-4

पायल की चुदाई-4

वह बोली- नहीं आप चाय पीकर फ्रेश होइए, फिर साथ में पियूंगी।

पायल की चुदाई-5

पायल की चुदाई-5

यह बोलकर मैंने उसे अपने से चिपका लिया। सूरत में पायल के साथ मैं ऐसी अनूठी रात बिताउंगा, ऐसा मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था।

मुझ से भूल हुई

मुझ से भूल हुई

उसे बोलने की आवश्यकता नहीं पड़ी, स्टोर के काऊंटर के साथ की दीवार पर अनचाहे गर्भ को रोकने की गोली का पोस्टर लगा था। उसने पोस्टर की ओर इशारा कर दिया। फार्मासिस्ट ने एक पैकेट निकाला और नरेन्द्र के हाथ में पकड़ा दिया।

मुझे गन्दा गन्दा लगता है ! -1

मुझे गन्दा गन्दा लगता है ! -1

मैंने एक फ्रॉक पहनी हुई थी.. जो घुटनों तक थी.. पंजाबन हूँ तो बहुत बाल हुआ करते थे मुझे। दानिश और मैं बहुत करीब थे, छुपे हुए… दानिश का लिंग मेरे कूल्हों को छू रहा था… मेरे कूल्हे बड़े हो रहे थे… मेरे मम्मे भी बड़े हो रहे थे… सेक्स क्या होता है मुझे अच्छे से पता था..
इन लड़कों के साथ रहकर सब पता था मुझे कि ये आपस में क्या कोड बातें करते थे, सब पता था पर सच बताऊँ, किसी ने मुझ पर डोरे डालने की कोशिश नहीं की थी।

मुझे गन्दा गन्दा लगता है !-2

मुझे गन्दा गन्दा लगता है !-2

फिल्म हॉल पुराना था… मॉल की तरह नया ऑडी नहीं था… बहुत बेकार लोग आजू बाजू बैठे थे…

पप्पू का इंट्रो

पप्पू का इंट्रो

मैंने अपना सब कुछ बताया, नाम और जहाँ से मैं हूँ वो सब !

पड़ोसन ने मुझे चोद दिया

पड़ोसन ने मुझे चोद दिया

आखिर मैंने वो कागज उठा कर अपनी जेब में रख लिया और घर आकर उसे पढ़ा तो उसमें लिखा था कि वह मुझसे प्यार करती है।

ईमेल की फीमेल

ईमेल की फीमेल

जब मैंने अपनी उम्र बयालीस साल बताई तो वो हिचकिचाई। फिर मेरे लंड का साइज पूछा तो मैंने बता दिया। फिर मेरे चुदाई के स्टेमिना के बारे में पूछा तो मैंने बता दिया। स्टेमिना के बारे में जानकर उसे मुझमें शायद जान नजर आई। पर उम्र को लेकर अभी भी कुछ हिचकिचाहट थी।

कातिल हसीना की हवस

कातिल हसीना की हवस

यह एक महीने पहले की बात है जब मैं मथुरा से देहली गया था।

तुमने क्या शूशू कर दी है?

तुमने क्या शूशू कर दी है?

मेरी अभी पढ़ाई ख़त्म नहीं हुई थी कि मुझे दिल्ली में एक अच्छी सी जॉब मिलने की उम्मीद हो गई, मैं वहाँ पर अपना इंटरव्यू देने गया था। वहाँ पर काफ़ी लड़के-लड़कियाँ अपना अपना इंटरव्यू देने आए थे ! हम सभी बारी बारी से अपना इंटरव्यू देते जा रहे थे मेरा इंटरव्यू लेने के बाद उन्होंने बाहर रुकने के लिए कहा। मैं जिस रूम में जाकर बैठा, वहाँ पर पहले से ही काफ़ी लड़के और लड़कियाँ मौजूद थे। मेरे बगल में एक लड़का बैठा हुआ था। थोड़ी देर के बाद वो लड़का बाहर चला गया और उसके थोड़ी देर बाद वहाँ पर एक लड़की आकर बैठ गई।